क्या है गूगल अ‍ॅडवर्डस्  / गूगल अ‍ॅड्स (What is Google Adwords in Hindi)

Reading Time: 7 minutes

६ साल पहले जब मैंने डिजिटल मार्केटिंग चालू किया तब मैं एक एजन्सी  के साथ क्लायंट सर्व्हिसिंग एक्जीक्यूटिव के भूमिका पर काम करता था, जब मुझे गूगल ऍडवर्ड्स कैम्पेन चलाने के लिये कहा, तब मुझे यह बात नई थी और मुजे लगा यह बहुत मुश्किल और क्लिष्ट होगा, परंतु  प्राथमिक चीजे जानने के बाद मुजे मालूम हुआ की डिजिटल मार्केटिंग के लिए यह बहुत आसान और प्रभावी माध्यम है|

२३ अक्तूबर २००० को ऍडवर्ड्स का लाँचिंग किया गया| सालार कामनगार ने गूगल ऍडवर्ड्स की कल्पना को सर्वप्रथम पेश किया, वह पहला बिज़नेस एक्जीक्यूटिव था, जिसने मौक़ा देखते हि ऍडवर्ड्स का प्लॅटफॉर्म  बना दिया | स्काट बैनिस्टर ने उसके बाद कीवर्ड पर आधारित सर्च रिझल्ट्स पर विज्ञापन दिखाने का विचार जताया|

आज विश्व भर में १ मिलियन विज्ञापनकर्ता उनके उत्पादन के मार्केटिंग के लिये गूगल ऍडवर्ड्स का प्रयोग करते है, जिससे वह ओनलाईन माध्यम से, अपने  दर्शको तक पहुँच सके, जागरूकता जता सके, और अपने बिसनेस के लिये लीड्स और सेल्स को बडा सके|

गूगल अ‍ॅडवर्डस् अब गूगल अ‍ॅड्स से जाना जाता है|

यह लेख आपको गूगल ऐडवर्ड्स / गूगल अ‍ॅड्स के बारे में जानने के लिए मदत करेगा साथे ही आप गूगल ऐडवर्ड्स की प्राथमिक चीजों के बारे में जान सकेंगे|

तो क्या है गूगल ऐडवर्ड्स? (What is Google Adwords in Hindi)

गूगल द्वारा गूगल सर्च और गूगल पार्टनर की वेबसाइट्स (गूगल डिस्प्ले नेटवर्क) पर विज्ञापन करने का गूगल ऐडवर्ड्स एक प्लेटफार्म है| गूगल, ऐडवर्ड्स के प्लॅटफॉर्म के जरीये ज्यादा से ज्यादा पैसे बनाता हैं को ज्यादातर पैसा गूगल ऐडवर्ड्स के जरिए आता है जहां की विज्ञापनकर्ता को गूगल को गूगल ऐडवर्ड्स के जरिए विज्ञापन करने के लिए गूगल को पैसे देने पड़ते है|

गूगल ऐडवर्ड्स में गूगल ऐडस के विभिन्न प्रकार

  1. सर्च अ‍ॅड्स  
  2. डिस्प्ले अ‍ॅड्स
  3. विडिओ अ‍ॅड्स
  4. शोपिंग अ‍ॅड्स
  5. युनिवर्सल ऐप अ‍ॅड्स
Get Free Introductory Digital Marketing Course by Rahul Gadekar – Access Now

Free Digital Marketing Course

1. गूगल सर्च अ‍ॅड्स

गूगल सर्च ऐडस जब कोई गूगल सर्च करता है तब ट्रिगर होती है| विज्ञापनकर्ता कौनसे की वर्ड ट्रिगर करने है कौनसे नहीं यह तय कर सकते है|

गूगल सर्च पर एक पेज पर पूरे ७ विज्ञापन होते है, ४ विज्ञापन ऊपर और ३ विज्ञापन सर्च रिजल्ट के नीचें होते है| उदा : जब कोई यूजर “रिसोर्ट इन काबिनी’’ के लिए गूगल सर्च करता है तब रिजल्ट कुछ इसा प्रकार से नजर आएँगे|

Google Adwords in Hindi

तो गूगल ऐडवर्ड्स कैसे काम करता है? (How does Google Adwords work in Hindi)

गूगल ऐडवर्ड्स रियल टाईम बिडिंग (आर टी बी) माडल पर काम करता है| (आर टी बी) का मतलब वेब पेज लोड होने के समय रियल टाईम नीलामी पर विज्ञापन ख़रीदे या बेचे जाते है|

पूल मार्केटिंग (मार्केट को खींचना): सर्च ऐडस पूल बेस्ड ऐडस होती है जहां यूजर किसी उत्पादन या सेवाओं के लिए गूगल पर सर्च करता है तब तो सक्रीय रूप से उत्पादन या सेवाओं को खोजता है| व्यवसाय को इसी वक्त उन्हें उनके विज्ञापन दिखाने के का मौका मिलता है जो टार्गेट ऑडियंस को दिख जाए, उनका ट्राफिक बढ़ जाए और वह बातचीत बना सके|

की वर्ड बेस्ड टार्गेटिंग: सर्च ऐडस पूरी तरह की वर्ड्स पर निर्भर होते है, विज्ञापनकर्ता कौनसे की वर्ड ट्रिगर करने है कौनसे नहीं यह तय कर सकते है| इसी कारण डिजिटल मार्केटिंग में सर्च ऐडस उच्च रूप से टार्गेटिंग चैनल बन रहा है|

हाई कोनवरसेशन रेट: सर्च ऐडस का हमेशा हाई कोनवरसेशन रेट होता है क्योंकी यूजर सक्रीय रूप से उत्पादन या सेवाओं को ढूंढता है, इसी वजह से जो यूजर सर्चिंग करता है उसीसे पुश मार्केटिंग के मुकाबले बातचीत का  मौक़ा बढ़ जाता है|

बजट का कम नुकसान: सर्च ऐडस की वर्ड्स के टार्गेट बेस पर मौक़ा देते है इसी वजह से बजट का बहुत ही कम नुकसान होता है|  तो विज्ञापनकर्ता उनका बजट का सर्च ऐडस पर प्रभावी रूप से उपयोग कर सकते है जिससे उच्च रूप की निवेश वापसी मिल कर प्रति अर्जन कम लागत (लो कॉस्ट एक्विजिशन) होती है|

डाईरेक्ट कॉल टू बिजनेस: मोबाईल डिवाईस पर सर्च ऐडस के जरिए विज्ञापनकर्ता संबधित मोबाईल नंबर से अपना विज्ञापनजोड़ सकते है| यूजर ने विज्ञापन क्लिक करने के बाद व्यावसायिक यूजर से सीधी बात कर सकते है| सीधी बात स्थानीय व्यवसाय के लिए फायदेमंद है जैसे की रेस्तरां, स्पा, सलून वगैरा. 

Advanced Google Ads Course

2. गूगल डिस्प्ले अ‍ॅड्स

जब आप वेबसाइट ब्राऊज करते है तब आपने डिस्प्ले ऐडस देखी होगी| वह दाए, ऊपर, नीचें या पेज के कन्टेन्ट के बीच भी आ सकते है| डिस्प्ले ऐड्स बैनर ऐड्स या इमेज ऐड्स के नाम से भी जाने जाते है| नीचें डिस्प्ले ऐड्स का उदाहरण दिया है|

डिस्प्ले ऐड में जहां दाए ओर “i” निशान हो वह ऐड गूगल ऐडस के जरिए ट्रिगर की गई है| जिस ऐड्स पर दाई ओर “i”   निशान ना हो वह ऐड गूगल ने ट्रिगर नहीं की है|

Google Adwords in Hindi Language

डिस्प्ले ऐड्स ट्रिगर पर निर्भर होते है जिसमें की वर्ड, वैबसाइटस, रुची, विषय शामिल होते है| जो वेबसाइट विज्ञापन को सहायता करती है उसी पर डिस्प्ले ऐड्स दिखाई देते है|

अगर विज्ञापनकर्ता को उनकी वैबसाइट पर गूगल ऐडस के माध्यम से नजर रखनी है तो उन्हें गूगल ऐड सेन्स का कोड अपने वेबसाइट में लगाना होता है|

गूगल डिस्प्ले अ‍ॅड्स के फायदे:

पुश मार्केटिंग: गूगल डिस्प्ले ऐड्स पुश बेस्ड होते है जहां विज्ञापनकर्ता  उंके टार्गेट ऑडियंस के रुची, विषय वेबसाइटस, कीवर्ड्स के जरिये टार्गेट करा सकते है|  कन्टेन्ट के टुकड़े टार्गेट ऑडियंस को पुश करके विज्ञापनकर्ता ज्यादा से ज्यादा ऑडियंस तक पहुँच सकते है, उनके ब्रांड, उत्पादन या सेवाओं के बारे में जागरूकता बना सकते है  जो बातचीत में बदल सकता है|

बिल्ड ब्रांड: अगर व्यवसाय मार्किट में नया है तो व्यवसाय को टार्गेट ऑडियंस के सामने दिखना और उनसे ब्रांड का सन्देश देना जरुरी है| डिस्प्ले ऐड्स इस मामले में विज्ञापन का ज्यादा शक्तिशाली रूप है जो आक्रामकता से ब्रांड को डिजिटल मीडिया पे बिल्ड करने में सहायता करता है| कई विज्ञापनकर्ता जब उनका उत्पादन लाँच करते है तब  होम पेज की इन्वेंटरी पब्लिशर्स से सीधे खरीदते है|

ब्रांड रिकॉल: टार्गेट युजर जब ऑनलाईन ब्राऊज करता है तब डिस्प्ले ऐड्स कई बार दिखाए जाते है, जिससे ब्रांड रिकॉल होता है| विज्ञापनकर्ता अलग अलग डीवाईस पर उसी युजर को टार्गेट करके साथ ही युट्युब बिल्डींग के जरीये उनका ब्रान्ड लगाये रखते है|

रि मार्किट युजर्स: वेबसाईट को जिस ऑडियंस ने विजीट किया है उन्हें विज्ञापनकर्ता को डिस्प्ले एड्स रि मार्किट करने में सहायता करता है| रि मार्केटिंग ऐड्स का मतलब रीमाईंर (याद दिलाना) होता है जिन्हें आपके उत्पादन में रुची दिखा कर ओनलाईन विजिट किया है|  रि मार्केटिंग ऐड्स ओनलाईन कोनवरसेशन रेट बढाने में मदद करता है जो उत्पादन का ओनलाईन मार्केटिंग करने का प्रभावी मार्ग है|

3. गूगल विडिओ अ‍ॅड्स:

गूगल विडिओ ऐड्स यह विडिओ ऐड्स होते है जो यूट्यूब या गूगल के पार्टनर के साईट्स पर चलाए जाते है| विडिओ ऐड्स पुश मार्केटिंग ऐड्स है जो ऑडियंस की रुची, विषय, यूट्यूब चैनल्स के माध्यम से टार्गेट की जाती है|

विडिओ ऐड्स अपने उत्पादन का डेमो, ब्रांड विडिओ, ग्राहकों की राय, विडिओ कैसे बनाए, केस स्टडी आदी का प्रदर्शन करने का अच्छा मार्ग है| विडिओ ऑडियंस को आपकी कहानी बताते है, विडिओ ऐड्स ब्रांड रिकॉल करने में प्रभावशाली है जो आपका उत्पादन कहानी के रूप में यूजर को बताता है|

YouTube Ads in Hindi

विडिओ अ‍ॅड्स के फायदे:

ज्यादा लोगों तक पहुंचना: यूट्यूब यह ३ क्रमांक की सबसे ज्यादा विजिट की गयी वेबसाइट है और उसपर हर महीने १.९ उसपर  बिलियन सक्रीय यूजर होते है इसका मतलब ऑडियंस बहुत है और आप भौगोलिक या उनके रुची के अनुसार उन तक यूट्यूब के माध्यम से पहुँच सकते है|

जागरूकता बनाना: अगर ब्रांड उनके उत्पादन के बारे में जागरूकता बनाना चाहता है तो डिजिटल मीडिया में विडिओ एक प्रभावशाली माध्यम है| कई विज्ञापनकर्ता प्रभावशाली विडिओ बनाकर अपने ऑडियंस तक पहुँच सकते है, ऑडियंस से जुड़ सकते है और उनका प्रभाव यूजर के मन पर डाल सकते है|

हाई ब्रांड रिकॉल: विडिओ ऐड्स में हाई ब्रांड रिकॉल होता है क्योंकी यह कहानी के रूप में ऑडियंस के सामने पेश किया जाता है| विडिओ ऐसे बनाने चाहिए जिससे ऑडियंस को ब्रांड के बारे में सही सन्देश मिल कर वह आपको याद रखे|

4. गूगल शॉपिंग अ‍ॅड्स:

गूगल शॉपिंग ऐड्स को प्रोडक्ट लिस्टिंग ऐड्स भी कहा जाता है| गूगल शॉपिंग अ‍ॅड्स ऐसी ऐड्स है जो गूगल सर्च पर छबी (इमेज) के रूप में प्रस्तुत होती है| नीचें गूगल शॉपिंग ऐड्स का उदाहरण दिया है|Google Shopping Ads in Hindi

शॉपिंग अ‍ॅड्स चलाने ने के लिए कम से कम जरुरी चीज़े:

मर्चंट सेंटर अकौंट: विज्ञापनकर्ता का मर्चंट सेंटर अकौंट होना जरुरी है, (मर्चंट सेंटर अकौंट में आप आपके सारे उत्पादन की विशेष जानकारी उनकी कीमत, रंग, आकार एवं ब्रांड आदी डाल सकते है). मर्चंट सेंटर अकौंट के बिना आप शॉपिंग ऐड्स नहीं चला सकते|

प्रोडक्ट बेस्ड वेबसाइट: आपका उत्पादन खरीदने के लिए वेबसाइट पर पेमेंट पद्धती के साथ प्रोडक्ट लिस्टिंग होना जरुरी है. गूगल के अनुसार ऐसे प्रोडक्ट जिसकी डोर स्टेप डिलीवरी की जा सकती है, जैसे की टी शर्ट, जीन्स, मोबाईल फोन्स, केमेरा वगैरा. घर पर ट्यूशन देनेवाली प्रशिक्षण संस्था शॉपिंग ऐड्स नहीं चला सकती क्योंकी प्रशिक्षण को सेवा माना जाता है ना की उत्पादन|  

मर्चंट सेंटर से ऐडवर्ड्स को जोड़ना: मर्चंट सेंटर पर उत्पादन की सारी जानकारी डालने के बाद यह अकौंट गूगल ऐडवर्ड्स / ऐड्स अकौंट के साथ जोड़ा जा सकता है|

शॉपिंग अ‍ॅड्स के फायदे:

किफायती: लो कॉस्ट पर क्लिक होणे के कारण शॉपिंग ऐड्स हमेशा की सर्च ऐड्स की तुलना में किफायती होती है, इसी कारण सेल्स की पूरी लागत में कम खर्चा होता है|

निवेश की ज्यादा वापसी: शॉपिंग ऐड्स इमेज के साथ प्रदर्शित होती है तो खरीदारी करनेवालों को ज्यादा आकर्षित करती है इससे कोनवरसेशन रेट बढ़ता है|

ज्यादा इन्वेंटरी के प्रोडक्ट का विज्ञापन वेबसाइट परा करना : शॉपिंग ऐड्स के जरिए ज्यादा इन्वेंटरी के प्रोडक्ट वेबसाइट पर दिखाए जा सकते है जहां विज्ञापनकर्ता अलग अलग प्रकार के उत्पादन की जानकारी एकसाथ अपलोड करके समय बचा सकते है और विज्ञापन करना आसान बन जाता है|

5. युनिवर्सल ऐप अ‍ॅड्स:

युनिवर्सल ऐप ऐड्स ऐसे ऐड्स होते है जो विज्ञापनकर्ता मोबाईल ऐप के जरिए करा सकते है| अगर व्यवसाय का कोई मोबाईल एपलीकेशन है तो ग्राहक ने  ऐप इंस्टाल करना जरुरी होता है बाद में व्यवसायकर्ता इन ऐप पर्चेस चला सकते है|

युनिवर्सल ऐप ऐड्स विज्ञापनकर्ता को गूगल सर्च ऐड्स, गूगल प्ले स्टोर, गूगल डिस्प्ले ऐड्स और यूट्यूब पर विडिओ ऐड्स कालाने की अनुमती देता है| गूगल ऐडवर्ड्स अपने आपही विज्ञापन के विभिन्न प्रकार के रूप तैयार करके युनिवर्सल ऐप कैम्पेन बनाता है और जो सही रूप से प्रदर्शित होता है उसे दिखाता है|

नीचें गूगल युनिवर्सल ऐप ऐड्स का उदाहरण है|

Google Universal Ads Hindi Main

निष्कर्ष:

तो अब आप गूगल ऐडवर्ड्स / गूगल अ‍ॅड्स के बारे में और उनके फायदे के बारे में जान गए है, चलिए विज्ञापन के विभिन्न रूप, उन्हें कैसे बनाया जाता है इसकी विस्तारपूर्वक जानकारी लेकर गूगल ऐड्स से निवेश की वापसी कैसी सुधारी जा सकती है यह भी जान लेते है|

    Stanford LEAD & Symbiosis Alumni, 11+ years experience in Programmatic Advertising, Dynamic Creative Optimization (DCO), Search Marketing, User Behaviour & Web Analytics. Founder - R Interactives & R Academy. R Academy is part of Stanford LISA portfolio of emerging startups Visiting Faculty - Symbiosis Institute of Business Management (SIBM - MBA) & Symbiosis Institute of Media & Communication (SIMC - MBA)

    All author posts
    Write a comment